आईएएस की तैयारी बिना कोचिंग के कैसे करें? - ज्ञानीभारत.com

आईएएस की तैयारी बिना कोचिंग के कैसे करें?

4+
apple blank business computer
आईएएस अफसर बने

आईएएस की तैयारी बिना कोचिंग के कैसे करें?

आईएएस की तैयारी बिना कोचिंग के कैसे करें? यूपीएससी हर साल आईएएस की परीक्षा का आयोजन कराता है। जिसमें लाखों छात्र हिस्से लेते हैं। यूपीएससी की परीक्षा पास करके छात्र इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज, इंडियन फॉरेन सर्विसेज और इंडियन पुलिस सर्विसेज आदि महत्वपूर्ण पदों पर जाते हैं। यह पद भारतीय सेवा में बड़े रैंक के पद माने जाते हैं। जिनमें एक नया नाम, सम्मान छुपा होता है। इन पदों की तैयारी के लिए कुछ छात्र बिना रणनीति के तैयारी शुरू कर देते हैं तो कुछ छात्र एक प्लान के मुताबिक इस तैयारी में लग जाते हैं।
आईएएस की परीक्षा एक कठिन परीक्षा होती है। इसकी तैयारी भी एक योजनाबद्ध तरीके से करनी होती है।
मैं छात्रों को सलाह देना चाहूंगा कि वह एक योजनाबद्ध तरीके से इसकी तैयारी में लग जाए। वह यदि सफल होना चाहते हैं तो कुछ समय के लिए दोस्तों से मिलना, शादी समारोह में जाना, पार्टी करना इन सब बातों को नजरंदाज कर दें। बस आप प्लानिंग के मुताबिक 2 या तीन साल यूपीएससी परीक्षा की तैयारी में लग जाए सफलता आपके कदमों में होगी।

आईएएस की तैयारी बिना कोचिंग के कैसे करें?

वैसे ज्यादातर छात्रों के मन में एक सवाल बना रहता है कि वह आईएएस की तैयारी कैसे करें? वह कोचिंग
ले या नहीं? वह किन किताबों का चयन करें? वह तैयारी को किस प्रकार करें? इस तरह के सवाल दिमाग में घूमते रहते हैं। मैंने पहले ही बताया है कि किसी भी प्लानिंग के बिना आप सफलता हासिल नहीं कर सकते हैं। रही कोचिंग की बात तो भारत में आपको ऐसे कई उदाहरण मिल जाएंगे जो बिना कोचिंग संस्थान की मदद के एक सफल अधिकारी बन चुके हैं। मैं यह गारंटी के साथ कहता हूं कि कोई भी कोचिंग संस्थान आपको आईएएस बनाने की गारंटी नहीं दे सकता। कोचिंग संस्थान का काम होता है छात्रों को मोटिवेट करना ताकि छात्र का जोश यूपीएससी की परीक्षा के लिए बना रहे और वह इसी बात के तो पैसे लेते हैं।
अब गरीब छात्रों के पास तो लाखों रुपए नहीं होते जिनसे वह दिल्ली मुखर्जी नगर में कोचिंग कर सके। तो क्या वह आईएएस अफसर नहीं बनेंगे? मेरा जवाब होगा नहीं, वह आईएएस अफसर बनेगे, अपनी सेल्फ स्टडी के दम पर। अब मैं नीचे प्वाइंट टू प्वाइंट बताऊंगा कि एक गरीब छात्र आईएएस अफसर कैसे बनेगा।

आईएएस की तैयारी बिना कोचिंग के कैसे करें?

आईएएस बनने की शुरुआत

यदि आप पहले से ही आईएएस अफसर बनने का मन बना चुके हो तो आप इसकी तैयारी 12वीं की परीक्षा या जब आप स्नातक में होते हो तब शुरू कर दे। इससे होगा यह कि आपका बेस और वैकल्पिक विषय मजबूत हो जाएगा। स्नातक के तीन साल में इसके लिए आप परिपक्व हो जाएगा। आपकी समझ बढ़ जाएगी।

नियमित अध्ययन करें

आप दृढ़ संकल्प के साथ इस परीक्षा की तैयारी करें।पाठयक्रम को समझ ले इसके बाद यूपीएससी की तैयारी में लग जाए। रोज नियमित 7 से 8 घंटे रेगुलर स्टडी करें। अपने ऊपर तनाव हावी न होने दे। बोर होने पर उपन्यास पढ़े या मोटीवेशन किताब पढ़े या म्यूजिक सुने।

पढ़ाई पर फोकस रखे

आप कुछ समय के लिए ज्यादा घूमना फिरना, दोस्तों के साथ पार्टी करना, शादी समारोह में आना जाना छोड़ दें। सिर्फ 2 या तीन साल के लिए इससे आप अपनी तैयारी पर फोकस कर पाएंगे। यह कोई रेलवे की परीक्षा नहीं है कि आप चार महीने में तैयारी करके परीक्षा पास कर लो। इसमें त्याग की आवश्यकता होती है उन चीजों की जो आपके ध्यान को भंग करते हैं।

विषय का चयन करें

आप उसी वैकल्पिक विषय का चयन करें जिसमें आपकी रुचि हो या जिसमें आपकी ज्यादा कमांड हो। इससे आपकी तैयारी में कम समय लगेगा क्योंकि आप उस विषय को पढ़ चुके हो।
ध्यान रहे जल्द बाजी में ऐसे वैकल्पिक विषय का चुनाव ना करे, जिसमें आपकी कोई रुचि न हो। इससे होगा यह कि आपको तैयारी में ज्यादा समय लगेगा।
वो आप पर निर्भर है कि आप किस विषय का चुनाव करेंगे। अगर आप ज्यादा मेहनती हो तो कुछ भी असंभव नहीं है।

अध्ययन सामग्री

जो लोग आईएएस बन चुके हैं, उनके इंटरव्यू में एक बात कॉमन होती है वह यह कि एनसीईआरटी की किताबों का अध्ययन करें। जी हां आप क्लास 6 से 12वीं तक की एनसीईआरटी की किताबों का अध्ययन जरुर करें। जो भी पढ़े उनके नोट्स जरुर बना ले। उनको दोहराते रहे। अपने वैकल्पिक विषय के लिए किसी अच्छे प्रकाशन की बुक खरीद ले और नोट्स बनाएं। अन्य विषय के लिए अन्य किताबों का अध्ययन करें। आपको केवल 2 या तीन साल देने है। यूपीएससी की परीक्षा का सिलेबस आपकी जेब में होना चाहिए। उसी के अनुसार पढ़ते रहे।

ऑनलाइन तैयारी करें

अच्छी-अच्छी वेबसाइट को खंगाले और यूपीएससी से सम्बन्धित टॉपिक को सर्च करके जानकारी इकट्ठी कर ले। मैं आपको कुछ ऐसी वेबसाइट के नाम बताने जा रहा हूं जो यूपीएससी की तैयारी के लिए हेल्पफुल साबित होगी ज्यादातर टॉपर इन्हीं वेबसाइट का प्रयोग करते हैं। जैसे IDSA, PRS, PTI, PIB, NCERT, India budget, Nios आदि। आपको इन सरकारी वेबसाइट से यूपीएससी की तैयारी के लिए बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।

अखबार का नियमित अध्ययन करें

आप करंट अफेयर्स या समसामयिक विषयों की तैयारी के लिए अखबार का नियमित अध्ययन जरुर करें। वैसे तो बहुत से अखबार है लेकिन आप द हिन्दू या इंडियन एक्सप्रेस का चुनाव करें। आप हिंदी के लिए दैनिक जागरण पढ़ सकते हैं।
आप अखबार की राष्ट्रीय, अन्तर्राष्ट्रीय, आर्थिक और संपादकीय लेख को रेगुलर पढ़े। महत्वपूर्ण खबरों को अंडरलाइन करें और उनके नोट्स बना ले।
राज्यसभा टीवी चैनल और आकाशवाणी पर समाचार सुनते रहे।

प्रश्न पत्र हल करें

पिछले वर्षों के प्रेक्टिस पेपर हल करें। इससे आपकी पेपर हल करने की स्पीड बढ़ेगी और आपको आइडिया मिलेगा।
अपनी लेखनी को सुंदर और आकर्षक बनाने के लिए आप रोज किसी ना किसी टॉपिक पर लिखते रहे। यूपीएससी की मेन्स परीक्षा में बहुत लिखना होता है। यदि आप रेगुलर किसी ना किसी टॉपिक पर लिखते हो तो इससे आपकी स्पीड बढ़ेगी और लेखनी सुंदर और आकर्षक बनेगी। यह मेन्स परीक्षा में आपके लिए बेस्ट लक साबित होगा।

यूपीएससी के पेपर

आईएएस की तैयारी बिना कोचिंग के कैसे करें? मैं आपकों बता दूं यूपीएससी की परीक्षा के तीन चरण होते हैं प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू। इन तीनों चरणों को पार करके आप इस पद तक पहुंचते हैं। जब आप प्रारंभिक परीक्षा देते हो तो आपको दो पेपर देने होते हैं। इसका पहला पेपर GS का होता है जिसमें हाई लेवल की करंट अफेयर्स जैसे अन्तर्राष्ट्रीय मुद्दे, राष्ट्रीय मुद्दे, इतिहास, पॉलिटिकल, जियोग्राफी, राष्ट्रीय आंदोलन, सोशल साइंस, एन्वॉयरमेंट और जनरल साइंस विषयों से ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके बाद की पाली में दूसरा पेपर कॉम्प्रिहेंशन, इंटरपर्सनल स्किल्स, कम्युनिकेशन स्किल्स, लॉजिकल रीजनिंग, एनालिटिकल एबिलिटी, डिसीजन मेकिंग और प्रॉब्लम सॉल्विंग, जनरल मेंटल एबिलिटी, बेसिक न्यूमरेसी और डाटा इंटरप्रिटेशन से सम्बन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक पेपर के लिए 2 घंटे का समय निर्धारित किया जाता है। दोनों पेपर 200-200 अंकों के होते हैं। दोनों पेपर अनिवार्य है।
अगला चरण मेन्स एग्जाम का होता है जिसमें कुल नौ पेपर होते हैं। नौ पेपर में 2 पेपर क्वालीफाइंग के होते हैं। दोनों पेपर 300-300 अंकों के होते हैं क्वालीफाइंग पेपर एक अंग्रेजी भाषा में और एक भारतीय भाषा में होता है। अन्य सात पेपर में 4 पेपर सामान्य अध्ययन के, दो पेपर वैकल्पिक विषय के और एक निबन्ध का कराया जाता है।
प्री और मेन्स परीक्षा की सफलता को पार करके अभ्यर्थी को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू में अभ्यर्थी की बुद्धिमत्ता का परीक्षण किया जाता है। इंटरव्यू 275 नंबर का होता है।
तीनों चरणों को पास कर लेने के बाद अब अभ्यर्थी को ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है। ट्रेनिंग कठोर होती है। जहां आप एक अधिकारी बनकर तैयार होते हो।

यूपीएससी की किताबें

  • भारतीय संविधान की तैयारी के लिए लक्ष्मीकांत द्वारा लिखित भारतीय राजव्यवस्था और डी डी बसु का द्वारा रचित भारत के संविधान का परिचय यूपीएससी की तैयारी के लिए बेस्ट किताबें हैं।
  • भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए रमेश सिंह द्वारा लिखित भारतीय अर्थव्यवस्था बेस्ट है। साथ ही इकॉनमी सर्वे जरुर पढ़े।
  • इतिहास के लिए आर एस शर्मा का ‘प्राचीन इतिहास’ और आधुनिक इतिहास के लिए बिपिन चंद्र का एनसीईआरटी आधारित आधुनिक इतिहास बेस्ट है।
  • भारतीय कला और संस्कृति की तैयारी के लिए आप नितिन सिंघानिया की किताब कला और संस्कृति पढ़ सकते हैं।
  • देश के स्वतंत्रता आंदोलन पर लिखी गई राजीव अहीर की किताब स्पेक्ट्रम आधुनिक प्री और मेन्स की लिए एक अच्छी किताब है।
  • पर्यावरण विषय की तैयारी के लिए डीआर खुल्लर, जे.ए.सी.एस राव की पर्यावरण किताब पढ़े।
  • गणित की जानकारी के लिए आरएस अग्रवाल का मैथमैटिक्स बेस्ट है।
  • साइंस के लिए एनसीईआरटी की किताबों का अध्ययन करें।
  • समसामयिक घटना के लिए द हिन्दू, द इंडियन एक्सप्रेस, कुरुक्षेत्र पत्रिका, आकाशवाणी चैनल राज्यसभा टीवी, पीआईबी और पीआरएस जैसी वेबसाइट का प्रयोग करें।

अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो लाइक और सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें।

अन्य पोस्ट के लिंक नीचे दिए गए हैं

COMMENT

  • 1+

    Adorable work

    1+
  • Please Post Your Comments & Reviews

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    %d bloggers like this: