जाने कोरोना वायरस का सच - ज्ञानीभारत.com

जाने कोरोना वायरस का सच

0

दुनिया में कोरोना वायरस का मूल स्थान चीन का वुहान शहर है। इस वायरस का पहला मामला 1 दिसम्बर 2019 को सामने आया। चीन के जिन लोगों में इस वायरस के मामले देखे गए वह पशुओं और मछली का व्यापार करते थे। इससे अनुमान लगाया गया कि यह वायरस किसी पशु या जानवर से आया है। लेकिन अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। वैज्ञानिक इसको पूरी तरह जानने के लिए खोज कर रहे हैं। सबसे ज्यादा प्रभावित देश चीन की सरकार हरकत में और यहां बड़े स्तर पर कोरोना वायरस से निपटने की तैयारी चल रही है। अभी तक इसका कोई टीका उपलब्ध नहीं है। चीन के वैज्ञानिकों ने इस वायरस की पहचान nCoV-2019 के रूप में की है। हालांकि WHO ने इसे नया नाम COVID-2019 दिया है। अब यह इसी नाम से जाना जाएगा। इस वायरस की दहशत इस कदर है कि चीन के शहर सुनसान पड़े हैं। यातायात पूरी तरह प्रभावित है और कई देश इसकी जद में आ चुके हैं। चीन में कोरोना वायरस से 3200 से अधिक लोग मर चुके हैं और 80 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित है। पूरी दुनिया की बात करे तो 1 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं। अब तक यह वायरस 80 से ज्यादा देशों में फैल चुका है। दक्षिण कोरिया, इटली, जापान आदि देशों में कई लोग इस वायरस से अपनी जान गंवा चुके हैं। भारत में अब तक 31 लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

कोरोना वायरस के लक्षण

अभी तक इस वायरस को देखा नहीं गया है। खांसी, जुकाम, बुखार, गले में खराश और सांस लेने में दिक्कत इस वायरस के लक्षण हैं। इन लक्षणों को नजरअंदाज न करें। परेशानी होने पर डॉक्टर को दिखाए।

कोरोना वायरस से बचाव

  • दिन भर में कई बार हाथ धोए, हाथों को कुछ सेकेण्ड तक मलते रहे हैं
  • भीड़ – भाड़ वाले इलाकों में न जाए यदि जाए तो मास्क पहनकर जाए
  • अस्पताल, होटलों से दूरी बनाए रखें
  • लोगों से फिलहाल हाथ न मिलाएं
  • जुकाम, खांसी आदि फ्लू से संक्रमित व्यक्ति से 2 मीटर की दूरी बनाए रखें
  • अपने हाथों को बार – बार मुंह और नाक से न लगाएं
  • फ्लू जैसे लक्षण दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें
  • साफ – सफाई का विशेष ध्यान रखें
  • तरल पदार्थ का ज्यादा सेवन करे और हरी साग सब्जी ज्यादा खाएं
  • मीट, मांस न खाए

%d bloggers like this: