मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना - ज्ञानीभारत.com

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

0
https://www.ज्ञानीभारत.com

किसी विद्वान ने सही कहा कि “किसी समुदाय की प्रगति को महिला की प्रगति से मापना चाहिए।” और यही वास्तविकता है। महिला को अधिकार दिए बिना किसी राष्ट्र का निर्माण नहीं हो सकता और यह तभी संभव होगा जब महिलाओं को अवसर की समानता दी जायेगी। आदिकाल से ही महिला अपने मौलिक अधिकारों से वंचित रही। पुरुष प्रधान समाज ने ऐसे कठोर नियम बनाए कि वह दीवार के भीतर रहने वाली वस्तु बन गई। उसको शैक्षिक, धार्मिक और आर्थिक अधिकारों से वंचित रखा गया। साथ ही दहेज प्रथा, बाल विवाह और कन्या भ्रूण हत्या जैसी क्रूर सामाजिक प्रथा का सामना करना पड़ा। ईश्वर ने इस धरती पर सबको को समान बनाया है। महिलाओं को भी गरिमामय जीवन जीने का अधिकार है। लेकिन प्राचीन समाज ने ईश्वर की रचना की अवहेलना की जिससे महिलाएं सदियों तक इस घोर विपत्ति का सामना करती रही। कहते हैं कि बदलाव ही प्रकृति का नियम है। अब सरकारी और गैर सरकारी स्तर पर महिलाओं के विकास हेतु विभिन्न योजनाओं को क्रियान्वित किया जा रहा है। और वह योजनाएं जमीनी स्तर पर सफल साबित हो रही है। इस ओर एक और पहल करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने बेटियों के लिए मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत 23 अगस्त 2019 को की। यह योजना बेटियों के जीवन स्तर को ऊंचा बनाएगी। इससे उसके शैक्षिक और आर्थिक क्षेत्र में उल्लेखनीय सुधार होगा। बाल विवाह, कन्या भ्रूण हत्या जैसी क्रूर प्रथा को रोकना में मदद मिलेगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों को आत्मनिर्भर बनाना है। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में पात्र लाभार्थी को 15000 की एकमुश्त धनराशि दी जायेगी। यह धनराशि छह चरणों में दी जायेगी। यह धनराशि सीधे बेटियों के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी। 18 साल के बाद ग्रेजुएशन हो जाने पर शादी के समय यह धनराशि बेटियों को दे दी जायेगी। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 12000 करोड़ का बजट जारी किया है।

इन छह चरणों में मिलेगी धनराशि। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

प्रथम चरण: इस चरण में वह नवजात बालिकाएं शामिल होगी जिनका जन्म 01/04/2019 को या उसके बाद हुआ हो। ऐसी बच्चियों को उत्तर प्रदेश सरकार 2000 रुपए की एक मुश्त धनराशि प्रदान करेगी।

द्वितीय चरण इस चरण में वह बालिकाएं शामिल होगी जिनका एक साल के अंदर सम्पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। परंतु उनका जन्म 01/04/2018 से पूर्व ना हुआ हो, को उत्तर प्रदेश सरकार 1000 रुपए की एक मुश्त धनराशि प्रदान करेगी।

तृतीय चरण इस चरण में वह बालिकाएं शामिल होगी जिन्होंने चालू शैक्षणिक सत्र के दौरान पहली क्लास में एडमिशन लिया हो। उस बालिका को सरकार 2000 रुपए की एक मुश्त धनराशि प्रदान करेगी।

चौथा चरण इस चरण में वह बालिकाएं शामिल होगी जिन्होंने चालू शैक्षणिक सत्र के दौरान छठी क्लास में एडमिशन लिया हो, को सरकार 2000 रुपए की एक मुश्त धनराशि प्रदान करेगी।

पांचवां चरण इस चरण में वह बालिकाएं शामिल होगी जिन्होंने चालू शैक्षणिक सत्र के दौरान नौवीं क्लास में एडमिशन लिया हो, ऐसी बालिका को सरकार 3000 रुपए की एक मुश्त धनराशि प्रदान करेगी।

छ्ठा चरण इस अंतिम चरण में वह बालिकाएं शामिल होगी जिन्होंने 10 वीं या 12 वीं क्लास को उत्तीर्ण करके किसी स्नातक डिग्री या कम से कम दो वर्षीय डिप्लोमा में एडमिशन लिया हो, को सरकार 5000 की एक मुश्त धनराशि प्रदान करेगी।

योजना के लिए पात्रता। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए के लिए कुछ पात्रता निर्धारित की गई है। इस पात्रता की श्रेणी में जो भी परिवार आता है उसे इस योजना का लाभ मिलेगा-

  • मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए वह परिवार पात्र होंगे जो उत्तर प्रदेश का निवासी है तथा उसके पास स्थाई निवास प्रमाण पत्र है जिसमें राशन कार्ड/आधार कार्ड/वोटर पहचान पत्र/विद्युत बिल/टेलीफोन का बिल मान्य है। ऐसे परिवार लाभार्थी की श्रेणी में आयेंगे।
  • लाभार्थी की पारिवारिक वार्षिक आय लगभग 3 लाख रुपए हो।
  • कन्या सुमंगला योजना के लिए वह ही परिवार पात्र होंगे जिनके परिवार में दो ही बेटियां हैं।
  • परिवार में अधिकतम दो ही बच्चे हो
  • किसी महिला को दूसरी बार प्रसव के दौरान जुड़वां बच्चे होने पर तीसरी संतान के रूप में लड़की को भी लाभ अनुमन्य होगा।
  • किसी महिला को पहली बार प्रसव से बालिका है तथा दूसरी बार के प्रसव से दो जुड़वां बालिका होती है तो ऐसी अवस्था में ही तीनों बेटियों को इस योजना का लाभ अनुमन्य होगा।
  • यदि किसी परिवार ने अनाथ बच्ची को गोद लिया है तो परिवार की जैविक संतान को सम्मिलित करते हुए अधिकतम दो बालिका को इस योजना का लाभ मिलेगा।

आवेदन कैसे करें।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना बालिकाओं के लिए एक अवसर है। इससे बालिकाओं के लिए उनके विकास हेतु अवसर बढ़ेगे और वह आत्मनिर्भर बनेगी। इसलिए जो भी परिवार इस योजना की पात्रता रखते हैं। वह उत्तर प्रदेश सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट https://mksy.up.gov.in पर जाए और इस योजना का लाभ ले।

कन्या-सुमंगला-योजना

Please Post Your Comments & Reviews

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: